Make Career in Sports in Hindi | Sports me Career Kaise Bnaye

खेल के क्षेत्र में अपना करियर कैसे बनाये

एक समय था, जब लोग अपनें बच्चों से कहते थे, कि ‘पूरा दिन खेलते रहते हो खेलने से कुछ नहीं मिलेगा’ परन्तु वर्तमान समय में खेल अब सिर्फ खेल नहीं रह गया है। पिछले कुछ वर्षों में इस क्षेत्र नें काफी विकास किया है । इस क्षेत्र में धन के साथ-साथ  सम्मान भी अधिक मिलता है| लगभग प्रत्येक खिलाडी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भाग लेना चाहता है, परन्तु उस स्तर तक पहुंचनें के लिए कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है|

भारत सरकार की ‘ खेलो इण्डिया योजना’ के माध्यम से लाखो लोगो की रूचि खेल की तरफ बढ़ी है|  हालाँकि यह आवश्यक नही है कि आप सिर्फ खिलाड़ी के रूप में ही करियर बना सकते है, बल्कि इससे सम्बंधित अन्य क्षेत्रो में अपना बेहतर करियर बनाया जा सकता है| वर्तमान में स्पोर्ट्स इंडस्ट्री में करियर के अनेक विकल्प मौजूद हैं। ssc exam dates

1.खेल में करियर बनानें हेतु उपयुक्त आयु

खेल के क्षेत्र में स्पोर्ट्स एकेडमीज अलग-अलग आयु के ग्रुप में छात्रों का प्रवेश लेती हैं, जैसे 5-8 वर्ष, 9-14 वर्ष और 15 वर्ष या उससे ऊपर। इस तरह शुरू से ही बच्चों की ग्रूमिंग एथलीट के तौर पर होती है। छात्रों के प्रवेश के समय ही एकेडमीज यह जज करती हैं, कि स्टूडेंट में किस खेल में बेहतर प्रदर्शन कर सकता है,और उसी के अनुसार उसे आगे बढ़ावा दिया जाता है। इन एकेडमीज या स्पोर्ट्स कॉलेज के द्वारा स्टूडेंट्स को इंटर सिटी व इंटर स्टेट लेवल के कॉम्पटीशन्स में भेजा जाता है।

2.सही एकेडमी का चयन

एक बेहतरीन खिलाड़ी बनने के लिए उपयुक्त एकेडमी का चयन करना अत्यंत आवश्यक है, क्योंकि सही एकेडमी के माध्यम से आप चयनित खेल में उच्च शिखर तक पहुँच सकते है| किसी भी खेल के लिए एकेडमी का चुनाव करते समय इन बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए, जो इस प्रकार है-

  • इंफ्रास्ट्रक्चर- आप यह ध्यान रखे कि आपकी एकेडमी आपके खेल से सम्बंधित उचित इंफ्रास्ट्रक्चर को समय-समय पर अपग्रेड भी किया जाता हो। एकेडमी में मौजूद इंफ्रास्ट्रक्चर अंतरराष्ट्रीय स्तर का होना चाहिए।
  • कोच- आप की सफलता आपके कोच पर निर्भर होगी, इसलिए यह ध्यान रखे कि कोच आपको गेम की सही टेक्निक और फिजिकल फिटनेस जैसी बातों को लेकर गाइड करते है अथवा नही|
  • एकेडमी का सक्सेस रेट- आप यह भी ध्यान दें, कि अभी तक एकेडमी से कितने खिलाड़ी सफलतापूर्वक राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंच पाए हैं। इसके लिए आप एकेडमी या स्पोर्ट्स कॉलेज का पिछला रिकॉर्ड चेक कर सकते हैं।

वैसे तो लगभग सभी खिलाडी खेल के क्षेत्र में इंटरनेशनल स्तर पर अपनी पहचान बनाना चाहता है, लेकिन दूसरे करियर्स के माध्यम से भी आप अपने प्रिय खेल से जुड़े रह सकते हैं। आप स्पोर्ट्स मैनेजमेंट, कोच या इंस्ट्रक्टर, कमेंटेटर या एंकर, स्पोर्ट्स जर्नलिज्म, स्पोर्ट्स मेडिसिन, इवेंट मैनेजमेंट, फैसिलिटी मैनेजमेंट में भी अपना करियर बना सकते हैं। up lekhpal

यहां से लें प्रशिक्षण

देश में विभिन्न खेलों का प्रशिक्षण देने वाली ऐसी एकेडमीज हैं, जो स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एसएआई) के मापदंडों के अनुरूप चलाई जाती हैं। यदि आप खेल में करियर बनाना चाहते हैं, तो ऐसी ही किसी एकेडमी में प्रशिक्षण लेना बेहतर होगा।

Posted in Career, Education, Sports | 7 Comments